12th टोपर कैसे बने: 12th टॉप कैसे करे

66

12th टोपर (Topper) कैसे बने ? 12th क्लास हमारे स्कूल लाइफ के समाप्ति के दिन होते है जिससे हमारे काफी यादें भी जुड़ी होती है. आप लोगो को पता ही होगा 12th क्लास का रिजल्ट हर जगह काम आता है चाहे वो कोई एंट्रेंस एग्जाम हो या किसी जॉब के लिए इंटरव्यू. हमें 12th क्लास को कभी हलके में नही लेना चाहिए नही तो भविष्य में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है. आज इसलिए मैं आप अभी को कुछ ऐसे टिप्स बताऊंगा जिससे आप लोग 12th टॉप कर सकते है अगर नही भी कर पाए तो कम से कम अच्छे परसेंटेज तो आ ही जायेंगे. इस पोस्ट को मैंने काफी कुछ ध्यान में रख कर लिखा है जैसे की 12th में बच्चे क्या गलती करते है, 12th क्लास में पढाई कैसे करनी चाहिए, 12th में हमें क्या करने से बचना चाहिए आदि जैसे सवाल जो 12th में काफी मायने रखते है. तो दोस्तों चलिए जानते है 12th टोपर (Topper) कैसे बने 12th टॉप (Top) कैसे करे.

topper kaise bane

जैसे जैसे हम आगे क्लास में जाते है वैसे वैसे हमारे ऊपर पढाई का बोझ भी बढ़ता जाता है और ऐसे स्तिथि में अगर हमने पढाई को सही तरीके से नही संभाला तो अच्छे परसेंटेज दूर की बात हमारा पास होना भी मुश्किल हो जायेगा. 12th क्लास में 90% से ऊपर लाना कोई बड़ी बात नही बस आपको थोड़ी मेहनत करनी होगी और वो मेहनत कैसे करनी है हम आपको इस पोस्ट में विस्तार से बताएँगे. क्या आपने कभी सोचा है की हर साल जो 12th टोपर निकलते है वो इतने ज्यादा परसेंटेज कैसे ला पाते है ? इसका सबसे बड़ा कारण है उनकी मेहनत और लगन. टोपर जो होते है वो पहले से ही पढाई कैसे करनी है इसकी योजना बना कर रखते है और उसे अच्छे से फॉलो भी करते है आपको यही करना है तभी आप 12th में टॉप कर सकते हो.

टोपर (Topper) बनने का कोई आसान तरीका नही होता बस आपको पढाई के तरफ अच्छे से ध्यान देना होता है तभी आप टोपर बन सकते हो. इस पोस्ट को मैं सभी स्ट्रीम्स को ध्यान में रख कर लिख रहा हूँ चाहे वो आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस का स्टूडेंट हो सभी के लिए पोस्ट मददगार साबित होगी. पोस्ट शुरू करने से पहले मैं यह बताना चाहूँगा की अगर आप एग्जाम के समय पढाई करने वाले छात्रों में से हो तो यह पोस्ट आपके ज्यादा काम नही आ सकती इसलिए इस पोस्ट को 12th एग्जाम से कुछ महीने पहले से ही फॉलो करना शुरू कर दे तो ज्यादा बेहतर होगा.

12th टोपर कैसे बने: 12th टॉप कैसे करे

Time Management:

सबसे जरुरी और पहली चीज जो आपको करनी चाहिए वो है समय का सही प्रबंधन. समय का प्रबंधन आप अपने हिसाब से कर सकते हो की आप किस समय कोनसा सब्जेक्ट पढ़ना चाहते हो. अपने सभी सब्जेक्ट को रोजाना थोड़ा थोड़ा समय जरुर दे इससे आपका सभी सब्जेक्ट पर पकड़ बना रहेगा.

Self Study:

बहुत से लोगो को अपने से ज्यादा इंस्टिट्यूट/कोचिंग पर भरोसा होता है और यह सोचना बिलकुल गलत है की आप बिना इंस्टिट्यूट/कोचिंग के कुछ नही कर सकते. आपको कभी भी अपने इंस्टिट्यूट/कोचिंग के भरोसे नही बैठना चाहिए ज्यादा से ज्यादा कोशिश करे की आप चीजो को खुद समझे. मैं ऐसा नही कह रहा की इंस्टिट्यूट/कोचिंग जाना छोड़ दो मेरा कहने का सीधा मतलब है की सेल्फ स्टडी भी बहुत जरुरी है इंस्टिट्यूट/कोचिंग से ज्यादा समय आपको सेल्फ स्टडी में देना चाहिए.

NCERT is Best Among Rest:

NCERT बुक्स आपकी हमेशा पहली पसंद होनी चाहिए यह मैं उन बच्चो के लिए बोल रहा हूँ जो NCERT से ज्यादा किसी और रिफरेन्स बुक पर समय देते है. रिफरेन्स बुक उनके लिए बनाया गया है जो चीजो का गहराई से समझना चाहते है या फिर उनके लिए जो 12th के बाद किसी एंट्रेंस एग्जाम में बैठना चाहते है. लेकिन आपके जानकारी के लिए मैं बताना चाहूँगा 12th के बाद जितने भी एंट्रेंस एग्जाम होते है सभी का मुख्या जड़ NCERT ही है इसी के टॉपिक से सवाल पूछे जाते है. मैं आप सभी को यही सलाह दूंगा की 12th में अच्छे परसेंटेज लाना चाहते है तो किसी दुसरे बुक के मुकाबले NCERT पर ध्यान दे. आजतक ऐसा कभी नही हुआ की NCERT से बाहार का प्रशन आपसे एग्जाम में पूछा जाये.

Do Learning Subjects in Morning:

हमें याद करने वाले सभी सब्जेक्ट को हमेशा सुबह के समय लगभग 5 AM के आसपास पढ़ना चाहिए. ऐसा मैं इसलिए बोल रहा हूँ क्यूंकि इस समय आपकी नींद पूरी होती है और आपका दिमाग भी बिलकुल तरोताज़ा महसूस होता है. जिस कारण आप जो भी याद करते हो वो चीजे जल्दी याद हो जाती है और उन चीजो को आप जल्दी भूलते भी नही. जल्दी याद करने पर हमने एक पोस्ट भी लिखा है उसे जरुर पढ़े.

Try to Finish Syllabus As Soon As Possible:

आपको पूरी कोशिश करनी चाहिए की आपका सिलेबस जल्दी से जल्दी ख़तम हो जाये. सिलेबस जल्दी ख़तम होने से यह फायदा होगा की आपके पास अभी काफी समय बचेगा उन पढ़े हुए टॉपिक्स को दोबारा पढ़ने का. जब आप उन टॉपिक्स को दोबारा पढ़ते हो तो वो आपको और अच्छे से समझ आ जाती है जिससे एग्जाम के समय आप चीजे नही भूलते.

First Understand Then Learn:

जब आप किसी चीज को पढ़ते हो तब उसका मतलब न पता हो तो वो चीज पढने का कोई फायदा नही. कभी चीजो को बिना समझे याद करने की कोशिश न करे ऐसा कर के आपको वो चीज याद तो हो जाएगी लेकिन जल्दी ही भूल जाओगे. अगर नही भूलते तो सवाल अगर एग्जाम के दौरान थोड़ा घुमा फिरा कर पूछ लिया गया तो आप जवाब नही दे पाओगे इसलिए चीजो को पहले समझो फिर याद करो.

Make Revision Notes:

रिवीजन नोट्स एग्जाम के समय के लिए बहुत मददगार साबित होती है. रिवीजन नोट्स आपको हर सब्जेक्ट का बनाना चाहिए तभी फायदा होगा. रिवीजन नोट्स में आपको वो हर पॉइंट्स लिखने चाहिए जो एग्जाम में आ सकते है. अगर आपको लगता है की यह सवाल आपसे एग्जाम में पूछा जा सकता है तो उसे रिवीजन नोट्स में लिख ले इससे एग्जाम के दौरान रिवीजन के लिए समय भी बचेगा.

Solve Previous Year Papers:

एग्जाम के सवाल किस पैटर्न में पूछा जायेगा, किस तरह का सवाल पूछा जायेगा, सबसे ज्यादा किस टॉपिक से सवाल आते है, सबसे ज्यादा कोनसा सवाल पूछा जाता है, सबसे ज्यादा किस सब्जेक्ट से सवाल पूछा जाता है ? इन सभी प्रशन के उत्तर सैंपल पेपर में मिल जायेंगे. आपको सैंपल पेपर ज्यादा से ज्यादा हल करने चाहिए मेरे हिसाब से पिछले 5 साल के सैंपल पेपर तो जरुर पढ़े.

The Day Before Exam:

बहुत से बच्चे एग्जाम से एक दिन पहले यह सोच कर घबरा जाते है की एग्जाम कैसा जायेगा क्या मेरे अच्छे परसेंटेज आ पाएंगे. अगर आप इतना सोचते हो तो पढ़े हुए चीजे भी दिमाग से निकलने लगते है इसलिए ज्यादा न सोचे बस पढ़े हुए टॉपिक्स पर एक नज़र डाल ले और रात में जल्दी सो जाये.

On the Exam Day:

एग्जाम वाले दिन दिमाग पर बिलकुल भी जोर न दे और अंदर से बिलकुल विश्वास रखे की पेपर अच्छा ही जायेगा. अगर कोई ऐसा टॉपिक है जो आप पढ़ना भूल गये हो तो उसे पढ़ने की बिलकुल भी कोशिश न करे. इससे आप बाकि पढ़े हुए टॉपिक्स भी भूल सकते हो इसलिए जितना पढ़ रखा है उसी में संतोष रखे.

During Exam:

जब आपको क्वेश्चन पेपर मिल जाये तब 15 मिनट उन सवालों पर नज़र डाल ले और जो सवाल नही आते उन्हें छोड़ दे और जो अच्छे से आते है उन्हें पहले करने की कोशिश करे. हमेशा  नंबर वाले सवालों को पहले करने की कोशिश करे क्यूंकि बाद में समय कम बचता है और इनके जवाब लम्बे होते है जिस कारण से जल्दबाजी में गलती भी हो सकती है. आपको ऐसे ही सबसे पहले 5 नंबर फिर 3 नंबर उसके बाद 2 नंबर सबसे आखिर में 1 नंबर का सवाल हल करना है.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में जाना की 12th टोपर (Topper) कैसे बने 12th टॉप (Top) कैसे करे. अगर आप लोग इस पोस्ट में बताये तरीके से 12th एग्जाम की तैयारी करते हो तो आपको 12th टोपर बनने से कोई नही रोक सकता. आप चाहे जिस भी स्ट्रीम से हो इससे कोई फर्क नही पड़ता बस आपको अच्छे से मेहनत करनी है और इस पोस्ट के हिसाब से चलना है. मेरा इस पोस्ट को लिखने का एक ही मकसद था 12th क्लास के स्टूडेंट्स की मदद करना ताकि सभी अपना भविष्य को बेहतर बना सके. अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया हो तो शेयर जरुर करे.