कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में

कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में

दोस्तों क्या आप भी कंप्यूटर की पूरी जानकारी जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह पर है क्यूंकि आज इस पोस्ट में हम कंप्यूटर की पूरी जानकारी जानेंगे. आपने भी बहुत बार कंप्यूटर के बारे में अपने दोस्तों को बात करते सुना होगा लेकिन आपको समझ नहीं आया की वो किस बारे में बात कर रहे है तो इसका मतलब आपको कंप्यूटर की जानकारी नहीं है. दोस्तों अगर आप आज के टेक्नोलॉजी के साथ चलना चाहते है तो मेरे हिसाब से आपको कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए. अगर आप कंप्यूटर की जानकारी चाहते है तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत मजेदार होने वाली है तो अब बिना समय बर्बाद किये चलिए पोस्ट पढ़ते है.

computer ki jankari

अगर आपको कंप्यूटर का असली मतलब नहीं पता तो आप टेक्नोलॉजी को अच्छे से नहीं समझ सकते क्यूंकि जब टेक्नोलॉजी का विकास अच्छी तरह नहीं हुआ था उस समय कंप्यूटर को ही टेक्नोलॉजी समझा जाता था वैसे कही हद तक कंप्यूटर का हमारे जीवन और टेक्नोलॉजी के विकास में बहुत बड़ा योगदान है. कंप्यूटर को समझना कोई मुश्किल बात नहीं है और जब मेरे जैसा व्यक्ति कंप्यूटर के बारे में समझाए तब तो बिलकुल परेशानी नहीं होगी 😀

कंप्यूटर का भी विकास बहुत तेज़ी के साथ हुआ है उदाहरण के लिए अगर आप पहले के कंप्यूटर को देखे तो उनका आकार भी ज्यादा था और उनमे ज्यादा functions भी नहीं थे लेकिन आजकल के कंप्यूटर बहुत हलके भी होते है उनका आकार भी कम होता है और उनमे functions भी बहुत से होते है. इंसानों ने कंप्यूटर का बेशक निर्माण किया हो लेकिन कंप्यूटर जितनी calculation speed इंसानों के पास भी नहीं है और बहुत से ऐसे काम कंप्यूटर कर सकता है जो किसी इंसान द्वारा कभी संभव ही नहीं है. आजकल आप देखे तो कंप्यूटर की जगह लैपटॉप ने ले ली है अब ज्यादा लोग कंप्यूटर खरीदने में रुचि नहीं दिखाते वैसे दोनों का काम एक जैसा ही होता है लेकिन कंप्यूटर को आप एक जगह से दूसरी जगह नहीं ले जा सकते क्यूंकि डेस्कटॉप कंप्यूटर जो होते है वो monitor, keyboard, cpu और mouse से मिलकर बने होते है जिस वजह से इन्हें एक जगह से दुसरे जगह ले जाने में परेशानी होती है वही दूसरी तरफ लैपटॉप को आप आसानी से fold कर सकते हो कही भी ले जा सकते हो और चार्ज भी कर सकते हो. यही कारण है की लैपटॉप का दाम डेस्कटॉप कंप्यूटर से हमेशा ज्यादा होता है अगर आपका budget कम है तो आपको डेस्कटॉप कंप्यूटर खरीदना चाहिए.

अभी तक हमने कंप्यूटर का सिर्फ एक छोटा सा कंप्यूटर ही जाना है अभी भी हमारा यह जानना बाकि है की कंप्यूटर क्या है तो अब चलिए वो भी जान लेते है. मैंने इस पोस्ट को इस तरह से लिखा है की जिन्हें कंप्यूटर के बारे में थोड़ी सी भी जानकारी ना हो वो भी इसे आसानी से समझ जाये तो अब हम कंप्यूटर की जानकारी पढेंगे.

कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में:

कंप्यूटर एक तरह का इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो task और calculations हमारे instructions के हिसाब से perform कर सकता है आप इसे ऐसे भी समझ सकते है की कंप्यूटर एक तरह का इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो mathematical problems solve कर सकता है, संदेश कही भी भेज सकता है, म्यूजिक play कर सकता है, विडियो play कर सकता है और इसी तरह के बहुत से काम कर सकता है.

अगर हम इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर की बात करे तो इसे 1940s में introduce किया गया था लेकिन उस समय यह इतना बड़ा होता था की इसे चलाने के लिए एक पुरे team की जरुरत पड़ती थी लेकिन अभी के कंप्यूटर बहुत fast होते है, आकार कम होता है, बहुत से task perform किये जा सकते है जो पहले सोचना भी असंभव ही लगता था.

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है: कंप्यूटर basically चार तरह के होते है तो चलिए पहले उन्हें समझ लेते है

  • Supercomputer: यह सबसे powerful कंप्यूटर होता है और सबसे महंगा भी इस तरह के कंप्यूटर ज्यादातर बड़े organizations द्वारा ही use किये जाते है. NASA भी supercomputer का उपयोग करता है अपने space shuttles launch करने के लिए, उन्हें control करने के लिए और space को explore करने के लिए भी
  • Mainframe Computer: यह उतना powerful नहीं होता जितना की supercomputer होते है लेकिन फिर भी यह बहुत महंगे होते है government organizations ज्यादातर इसी तरह के कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है. Banks, educational institution और insurance companies भी इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग अपने ग्राहकों के data store करने के लिए करते है
  • Minicomputer: इस तरह के कंप्यूटर का प्रयोग small business और firms द्वारा किया जाता है. Minicomputer को हम midrange computer के नाम से भी पुकारते है
  • Microcomputer: हम जो आमतोर पर desktop computers, laptops, tablets, smartphones इस्तेमाल करते है वो microcomputer में ही आते है. इस तरह के कंप्यूटर सबसे ज्यादा use किये जाते है और यह बाकि कंप्यूटर से सस्ते भी होते है. इस तरह के कंप्यूटर entertainment, education, gaming और दुसरे काम के लिए बनाये जाते है

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है:

कंप्यूटर के अंदर जितने भी management process होते है वो ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा ही संभाले जाते है. ऑपरेटिंग सिस्टम एक तरह का सिस्टम सॉफ्टवेर ही है. ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा कंप्यूटर के सभी basic task perform किये जाते है जैसे की file management, memory management, process management etc. ऑपरेटिंग सिस्टम के वजह से ही जितने भी application software होते है वो command समझ पते है और अपना कार्य कर पाते है. ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण कुछ इस प्रकार है windows, linux, macintosh etc. ऑपरेटिंग सिस्टम को और अच्छी तरह समझने के लिए आप इस पेज पर जाये

CPU क्या है:

दोस्तों आगे बढ़ने से पहले हम यह समझ लेते है की CPU क्या है ? CPU (Central Processing Unit) को  computer brain भी बोला जाता है क्यूंकि जो भी instruction हम कंप्यूटर को देते है उसे पूरा करने का काम CPU का ही है. CPU को processor के नाम से भी जाना जाता है

कंप्यूटर काम कैसे करता है:

कंप्यूटर काम कैसे करता है यह आप अपनी आँखों से देख तो नहीं सकते लेकिन इसे समझ ज़रूर सकते है तो कंप्यूटर को जब हम instruction देते है keyboard और mouse की मदद से तब वो instruction CPU तक जाता है और CPU हमारे दिए हुए instructions का पालन करता है इसी तरह हमारा कंप्यूटर काम करता है

कंप्यूटर प्रोग्राम क्या है:

कंप्यूटर प्रोग्राम को आप instructions का collection कह सकते हो जो किसी विशेष काम के लिए बनाया जाता है और जब हम उस प्रोग्राम को execute करते है तब वो जिस काम के लिए बनाया जाता है वो पूरा करता है. एक बात को हमेशा याद रखे कंप्यूटर एक तरह का मशीन है जो इंसानों की भाषा नहीं समझ सकता इसलिए कंप्यूटर प्रोग्राम बनाये जाते है जो computers को instruct करता है. कंप्यूटर प्रोग्राम जो करता है उसे हम computer programmer कहते है और जिस भाषा को हम प्रोग्राम में इस्तेमाल करते है उसे programming language कहते है और यह भी बहुत तरह के होते है

हार्डवेयर क्या है:

हार्डवेयर हम कंप्यूटर के physical parts को कहते है, नहीं समझे ? कोई बात नहीं चलिए विस्तार से समझते है. देखिये कंप्यूटर के बहुत से parts होते है जैसे mouse, keyboard, monitor, cpu, motherboard, ram etc. तो कंप्यूटर के जो भी part हम अपने हाथो से छू सकते है उन्हें हार्डवेयर कहते है . अगर आप देखे तो हार्डवेयर के बिना कंप्यूटर का कोई वजूद ही नहीं होगा

सॉफ्टवेर क्या है:

हमने ऊपर यह तो जान लिया की हार्डवेयर क्या है लेकिन अभी तक यह नहीं जाना की सॉफ्टवेर क्या है. दोस्तों सॉफ्टवेर भी हार्डवेयर की तरह कंप्यूटर को चलाने में अहम भूमिका निभाता है अगर आप यह जानना चाहते हो की सॉफ्टवेर क्या है तो सॉफ्टवेर आप उन सभी instructions और data को कह सकते हो जो electronically save हो सकते है. सॉफ्टवेर को हमेशा किसी विशेष काम के लिए बनाया जाता है जैसे की photoshop से हम photo edit कर सकते है, notepad में हम कुछ भी type कर सकते है, paint से हम कुछ भी draw कर सकते है इसी तरह के बहुत से सॉफ्टवेर होते है जो किसी विशेष काम के लिए बनाये जाते है. सॉफ्टवेर दो तरह के होते है application software और system software. सॉफ्टवेर को अच्छी तरह समझने के लिए आप इस पेज पर जाये

Rom और Ram क्या है:

पहली मेमोरी को हम rom कहते है इसका मतलब है read only memory जब हमारा कंप्यूटर बंद होता है तब यह सभी data अपने पास store करके रखता है जैसे की hard drive और pen drive. दूसरी memory को हम ram कहते है है इसका मतलब है random access memory यह हमारा data सिर्फ कुछ समय के लिए store करके रखता है जैसे ही हम कंप्यूटर बंद करते है ram पूरी तरह से खली हो जाता है

Final Words:

दोस्तों आज हमने कंप्यूटर की पूरी जानकारी पढ़ी मैं उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट भी हमारे दुसरे पोस्ट की तरह पसंद आया होगा. मैंने इस पोस्ट के अंदर आपको कंप्यूटर की सभी जानकारी दि है जो हर किसी को पता होनी चाहिए. कंप्यूटर को और अच्छी तरह समझने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल करे आप जितना इसका इस्तेमाल करेंगे उतनी जानकारी आप हासिल कर पाएंगे. अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो कृपया इसे शेयर ज़रूर करे.