Dairy Farm कैसे शुरू करे ? पूरी जानकारी

0

दोस्तों क्या आप जानना चाहते है की Dairy Farm कैसे शुरू करे ? अगर आपका जवाब हाँ है तो हमारे इस पोस्ट को पढ़े. इस पोस्ट में हम जानेंगे की Dairy Farm कैसे शुरू करे. दोस्तों अगर आप इंडिया में डेरी फार्मिंग करते है तो आप इससे अच्छा मुनाफा कर सकते है. अगर आप डेरी फार्म के बारे में कुछ नही जानते की डेरी फार्म शुरू करने के लिए किन चीजो की जरुरत है, डेरी फार्म हम कहाँ कर सकते है, डेरी फार्म के लिए किस नस्ल की गाय या भैंस अच्छी होगी इत्यादी जैसे सवालो के जवाब मैं आपको इस पोस्ट में देने वाला हूँ. अगर आप पोस्ट पढने के लिए तैयार है तो चलिए दोस्तों जानते है Dairy Farm कैसे शुरू करे.

dairy farm

डेरी फार्म अगर आप इंडिया में करते हो तो इसके बहुत से फायदे है चलिए कुछ फायदे इसी पोस्ट में हम जान लेते है:

  • डेरी फार्मिंग एक परंपरागत बिज़नेस है और इसके लिए आपको प्रचार प्रसार करने की जरुरत नही पड़ती. आप यह बिज़नेस इंडिया के किसी भी कोने में कर सकते हो क्यूंकि दूध की आवश्यकता हर किसी को पड़ती है.
  • डेरी फार्मिंग हमारे पर्यावरण के अनुकूल और इससे हमारे पर्यावरण को किसी तरह का नुक्सान नही पहुँचता.
  • इस बिज़नेस के लिए आपको किसी प्रोफेशनल डेरी फार्मर की जरुरत नही पड़ती. इस काम में आपके घर का भी कोई सदस्य आपकी मदद कर सकता है.
  • यह बहुत अच्छा बिज़नेस है जो बेरोजगार है या पढ़े लिखे नही है वो भी इस बिज़नेस को कर सकते है.
  • डेरी फार्म खोलने के लिए आपको इंडिया में बहुत अच्छे नस्ल के पशु मिल जायेंगे जो ज्यादा दूध भी उत्पाद करेंगे और इंडिया के वातावरण के अनुकूल भी होंगे.
  • डेरी फार्म शुरू करने के लिए बैंक आपको उधार भी देती है.

तो दोस्तों यह मैंने आपको डेरी फार्म शुरू करने के कुछ फायदे बताये. अगर आप भी डेरी फार्म खोलना चाहते है तो हमें यह जानना होगा की डेरी फार्म खोलने के लिए क्या चाहिए तो चलिए जानते है Dairy Farm कैसे शुरू करे पूरी जानकारी हिंदी में.

Dairy Farm कैसे शुरू करे ? पूरी जानकारी:

Breeds:

आपको मार्किट में ऐसे भारतीय और विदेशी नस्ल आसानी से मिल जायेंगे जिनके दूध का उत्पाद काफ़ी अधिक होता है. आपको पहले यह निर्णय लेना है की आप डेरी फार्म में भैंस को रखना चाहते है या गाय को. मैं आपके जानकारी के लिए बताना चाहूँगा की भैंस के दूध में फैट की मात्रा गाय के दूध के मुकाबले अधिक होती है. वैसे आप चाहे तो दोनों को रख सकते है यह पूरी तरह आपके पसंद और मार्किट डिमांड पर निर्भर करता है. अधिक दूध उत्पाद के लिए आप भैंस के नस्ल जैसे Murrah, Surti, Mehsana, Jaffarabadi, Bhadhawari का चयन कर सकते है. अगर हम गाय के नस्ल की बात करे जो अधिक मात्रा में दूध उत्पाद करते है तो उनके नाम होंगे Gir, Sahiwal, Red Sindhi, Tharparkar आदि वही विदेशी नस्ल में Holstein Friesian, Brown Swiss और Jersey जैसे नाम शामिल है. जो भी हमने अभी नाम पढ़े यही सभी नस्ल भारतीय वातावरण के अनुकूल है.

Housing:

पशु पालन के लिए आपको एक अच्छे और साफ़ सुथरे आवास की जरुरत पड़ेगी तभी आपका पशु स्वस्थ, बीमारियों से मुक्त रहेगा और अधिक दूध उत्पादक साबित होगा. पशु आवास के लिए आपको किसी खाली जगह की आवश्यकता पड़ेगी. आमतौर पर एक पशु के लिए आपको 40 वर्ग फूट शेड के अंदर और 80 वर्ग फूट खुली जगह चाहिए होगी. छोटे पैमाने पर दूध उत्पादन के लिए अगर आपके पास 20 पशु है तो 3000 वर्ग फूट जगह की आवशयकता पड़ेगी. वैसे एक चीज का ध्यान रहे की आपका फार्म साफ़ सुथरा हो, ताज़ी हवा का संचार हो और उचित जगह खाली हो.

Feeding:

एक पशु तभी स्वस्थ रह सकता है जब उसके खान पान का अच्छे से ख्याल रखा जाये. अपने पशु को आहार में सिर्फ पौष्टिक भोजन प्रदान करे इससे पशु का विकास अच्छे से होगा और स्वास्थ्य भी बना रहेगा. अपने पशु को नियमित भोजन के साथ ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खिलाये इससे वह ज्यादा मात्रा में दूध उत्पाद करेगा. अगर मुमकिन हो तो अपने पशु के चरने के लिए जगह का इंतजाम करे. पौष्टिक खाने के साथ इस बात का भी ध्यान रहे की पशु सिर्फ साफ़ पानी का उपभोग करे. आमतौर पर देखा गया है की एक पशु को 5 लीटर पानी की आवश्यकता होती है 1 लीटर दूध उत्पाद करने के लिए.

Care & Management:

अपने पशु का अच्छे से ध्यान रखे ताकि आपके बिज़नेस में कोई बाधा न आये और आपके पशु का स्वास्थ्य भी बना रहे. हमेशा कोशिश करे की जितने भी पशु से जुड़े बीमारी हो उनसे आपके पशु मुक्त रहे इसलिए समय-समय पर पशु की जांच करवाए और वैक्सीन भी सही समय पर उन्हें लगवाए. पौष्टिक भोजन के साथ पशु साफ़ पानी पिए इसका भी ध्यान रखे. अपने पशु को रोजाना साफ़ पानी से स्नान करवाने का प्रयास करे. पशु के लिए जितने भी जरुरी दवाई और टिके हो उन्हें किसी सुरक्षित जगह पर रखे ताकि कभी आपातकालीन स्तिथि में दिक्कत न हो.

Marketing:

अगर हम डेरी फार्मिंग में मार्केटिंग की बात करे तो अपने डेरी के वस्तुओ का प्रचार करने में आपको ज्यादा दिक्कत नही आएगी. भारत जैसे देश में दूध और इससे बनाये जाने वाले दुसरे वस्तु जैसे पनीर, बटर, घी, दही, क्रीम आदि की काफ़ी मांग है तो मार्केटिंग करने में कोई खर्चा नही आएगा. आप डेरी फार्म कहीं भी खोल सकते हो और इस बिज़नेस से अच्छा मुनाफा कमा सकते हो. यही एक सबसे बड़ी वजह है जो इस बिज़नेस को सफल बनाती है.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने जाना Dairy Farm कैसे शुरू करे ? Dairy Farm शुरू करने के लिए क्या चाहिए ? Dairy Farm में पशु का ख्याल कैसे रखे आदि. आपको भी यह पोस्ट पढने के बाद इतना तो अंदाज़ा लग गया होगा की डेरी फार्मिंग भी अच्छा बिज़नेस साबित हो सकता है. आप इस बिज़नेस को कम इन्वेस्टमेंट में भी शुरू कर सकते हो. अगर आपके पास डेरी फार्म शुरू करने के लिए पैसे नही है तो बैंक से उधार ले सकते हो. डेरी फार्म शुरू करने के बाद आपको बस अपने पशुओ का ध्यान रखना है बाकि बिज़नेस तो अच्छे से चल ही जयेगा अगर काम लगन से करे तो. अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया हो तो इसे शेयर जरुर करे.