Dollar Rate Kya Hai ? एक डॉलर में कितने रूपए

Dollar Rate Kya Hai ? एक डॉलर में कितने रूपए

एक डॉलर में कितने रूपए ? क्या आप जानना चाहते है Dollar Rate Kya Hai ? अगर आप भी जानना चाहते है की Ek Dollar Me Kitne Rupay तो इस पोस्ट को पढ़े. आपने बहुत बार लोगो को डॉलर के बारे में बात करते सुना होगा जैसे की जब डॉलर की कीमत रूपए के मुकाबले बढ़ जाते है या फिर ऑनलाइन किसी अंतरराष्ट्रीय वेबसाइट पर शॉपिंग करते समय डॉलर में पैसे चुकाने होते है. ऐसे स्तिथि में हर कोई जानना चाहता है की हमारे रुपये के मुकाबले डॉलर कितना मजबूत है. मैं आज आपको इस पोस्ट में Dollar Ka Rate एक डॉलर में कितने रूपए है वह बताया जायेगा. आपको इस पोस्ट में डॉलर रेट क्या है इसके साथ यह भी बताया जायेगा की डॉलर रुपये के मुकाबले ज्यादा मजबूत क्यों है और क्या होगा अगर कभी डॉलर का रेट रुपये के रेट जितना हो जायेगा.

dollar ka rate

देखिये दोस्तों डॉलर कोई साधारण मुद्रा नहीं है यह एक तरह का अंतरराष्ट्रीय मुद्रा है जो दुनिया भर में काम करता है. डॉलर के बाद अगर किसी मुद्रा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार किया जाता है वह यूरो है. आप इस बात से समझ सकते है डॉलर कितना मजबूत है और इसका महत्व कितना है. जब भी आप किसी अंतरराष्ट्रीय वेबसाइट से कोई शॉपिंग करते हो या फिर विदेश से पैसो का लेन देन करते हो तब भी ज्यादातर डॉलर मुद्रा में ही पैसे चुकाने होते है. ऐसा माना जाता है की एशिया में 80% लेन-देन डॉलर मुद्रा में ही किये जाते है. अमेरिका का राष्ट्रीय मुद्रा डॉलर है और बहुत से ऐसे देश भी है जिनके पास खुद का राष्ट्रीय मुद्रा नहीं है इसलिए वो भी डॉलर में ही व्यापर करते है.

Dollar Rate Kya Hai ? एक डॉलर में कितने रूपए:

अगर आप डॉलर का रेट जानना चाहते है उससे पहले मैं आपको कुछ बताना चाहूँगा. डॉलर का रेट हमारे भारतीय रुपया के मुकाबले हमेशा घटता बढ़ता रहता है. यह कुछ तय नहीं होता की कितना बढ़ेगा या कितना घटेगा और यह भी तय नहीं होता की कितने समय बाद घट या बढ़ सकता है. डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया का घटना बढ़ना पुरे तरह से इंडियन मार्किट पर निर्भर करता है मैं आगे आपको इस बारे में पुरे विस्तार से बताऊंगा. उससे पहले यह जान लेते है की एक डॉलर में कितने रूपए होते है ? तो जैसा की मैंने आपको पहले ही बता दिया यह घटता बढ़ता रहता है इसलिए अभी जो डॉलर का रेट है वो कुछ समय बाद बदल भी सकता है. इसलिए आपको मैं एक तरीका बताता हूँ इससे आप आसानी से डॉलर का रेट वर्तमान में क्या चल रहा है पता लगा सकते हो. डॉलर वर्तमान में भारतीय रुपया से कितना मजबूत है यह जानने के लिए गूगल पर “One Dollar to Rupee” लिख कर सर्च करे आपको डॉलर की कीमत पता चल जाएगी.

dollar rate

आपको सबसे पहले किसी ब्राउज़र में जा कर गूगल पर जैसा मैंने ऊपर स्क्रीनशॉट में दिखाया है ठीक उसी तरह सर्च करना है. ऐसा करने से गूगल आपको डॉलर का रेट वर्तमान में क्या चल रहा है यह बता देगा. आप यह तरीका किसी भी फ़ोन या कंप्यूटर पर कर सकते हो बस आपको गूगल पर सर्च करना आना चाहिए.

Dollar Rate रुपया से मजबूत क्यों है ?

ऊपर पोस्ट पढ़ने के बाद आपको यह पता चल गया होगा की डॉलर की कीमत कभी स्थिर नहीं रहती और यह हमारे भारतीय मुद्रा से काफी मजबूत भी है. आपको यह जानकर हैरानी होगी की 1947 में जब हमारा देश आज़ाद हुआ था उस समय एक डॉलर एक रुपया के बराबर हुआ करता था. अब सवाल यह आता है की डॉलर का रेट इतना क्यों बढ़ गया ? यह कभी स्थिर क्यों नहीं रहता और डॉलर हमारे भारतीय मुद्रा से इतना मजबूत क्यों है ? देखिये इन सवालों का जवाब समझाने के लिए आपका यह जानना जरुरी है की यह विभिन्न कारक पर निर्भर करता है

  • भारतीय रुपया के कमजोर होने का सबसे बड़ा कारण आयात निर्यात है. यह सिर्फ भारतीय मुद्रा की ही बात नहीं कर रहा किसी भी मुद्रा का कमजोर होना आयात निर्यात की स्थिति को दर्शाता है.
  • जब किसी देश का निर्यात बिल उसके आयात बिल से घट जाता है तो इस स्थिति को व्यापार घाटा कहते है.
  • व्यापार घाटा को आप ऐसे भी समझ सकते हो की जब कोई देश निर्यात कम और आयात ज्यादा करता है तो उसे व्यापार घाटा कहा जाता है.
  • पिछले कुछ सालो में कच्चे तेल की कीमत काफी बढ़ गयी है और भारत सिर्फ अपने जरुरत के 20% ही कच्चे तेल उत्पाद कर पाता है और बाकि के 80% निर्यात द्वारा भारत में लाया जाता है. निर्यात के लिए भारत को दुसरे देशो को पैसे डॉलर में देने होते है जो की रुपया के मूल्य को कम कर देता है.
  • भारत के आयात बिल में सबसे ज्यादा हिस्सा तेल की खरीद है उसके बाद दुसरे वस्तु भी शामिल है जो हम बाहर के देशो का इस्तेमाल करते है. यहीं वजह है की सरकार हमेशा देशी चीजे खरीदने की सलाह देती है इससे रुपया में मजबूती आती है.
  • दूसरा प्रमुख कारण डॉलर की मजबूती का यह भी है की पूंजी आउटफ्लो बढ़ रहा है. पूंजी आउटफ्लो उस स्थिति को कहते है जब देश से देशी निवेशक या फिर विदेशी निवेशक अपना पैसा देश से निकालकर किसी और देश में लगा देते है.
  • जब भारत और विदेश के निवेशक भारत के बाज़ार से रुपया निकालते है तो वे पूरी दुनिया में स्वीकार करे जाने वाली मुद्रा यानी डॉलर में निकालते है जिस वजह से भारतीय मार्किट में डॉलर की मांग बढ़ जाती है और डॉलर का मूल्य भी बढ़ जाता है.

यह मैंने दो ऐसे प्रमुख कारण बताये जो डॉलर को मजबूत और रुपया को कमजोर किये जा रहे है. वैसे रुपया के कमजोर होने के दुसरे भी कारण है जैसे की ग्रोथ रेट, ब्याज दर, रोजगार, महंगाई आदि. अब शायद आपको पता चल गया होगा की डॉलर रुपया से इतना मजबूत क्यों है.

क्या होगा जब डॉलर और रुपया का मूल्य बराबर कर दिया जाये ?

यह सुनने में कितना दिलचस्प लग रहा है न की अगर डॉलर और रुपया का मूल्य बरबार कर दिया जाये. लोग सोच रहे होंगे की इससे हमारा देश जल्दी विकास कर पायेगा लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है चलिए मैं आपको समझाता हूँ क्यों.

फायदे:

  • आप iPhone सिर्फ Rs 650 में खरीद पाओगे.
  • पेट्रोल और डीजल काफी सस्ता हो जायेगा.
  • पांच रुपया में आप पेट भर खाना खा पाओगे.
  • आप विदेश भी Rs 2000 में घूम पाओगे.
  • आप Rs 5000 में अपनी कार ले सकते हो.

नुक्सान:

  • भारत अगर कोई सामान निर्यात करता है तो रुपया का मूल्य ज्यादा होने के वजह से कोई देश उस सामान को नहीं खरीदेगा जिससे भारत का नुक्सान होगा.
  • अगर कोई इंजिनियर भारत में Rs 50,000 में काम करता है लेकिन जब एक डॉलर एक रुपया के बराबर हो जायेगा तो कोई भी विदेशी कंपनी भारत में निवेश नहीं करना चाहेगा क्यूंकि वही काम अमेरिका या किसी दुसरे देश का व्यक्ति $3000 में कर देगा.
  • इससे पुरे भारत में गरीबी हो जाएगी और लोगो को एक वक़्त का खाना भी नसीब नहीं होगा.

तो यही वजह है की सरकार रुपया के मूल्य को नहीं बढ़ा रही क्यूंकि इससे फायदे से ज्यादा नुक्सान होगा. एक और बात मैं आपको बताना चाहूँगा की मुद्रा के मूल्य कम होने से आप किसी देश का अर्थव्यवस्था नहीं निर्धारित कर सकते. उदहारण के लिए बांग्लादेश मुद्रा (Taka) जापान के मुद्रा (Yen) से लगभग बराबर है लेकिन फिर भी जापान के तुलना में बांग्लादेश अभी बहुत पीछे है.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में बहुत कुछ जाना जैसे की Dollar Ka Rate एक डॉलर में कितने रूपए और साथ में हमने यह भी जाना की डॉलर रुपया से इतना मजबूत क्यों है. उसके बाद मैंने आपको यह भी बताया की एक डॉलर अगर एक रुपया के बराबार हो जायेगा तो देश की स्थिति क्या होगी. इस पोस्ट को पढ़ने के बाद बहुत से नयी चीजे आपको सिखने को मिली होगी. यह पोस्ट उन सभी के लिए था जो मुद्रा कैसे काम करता है यह समझना चाहते थे. उम्मीद करता हूँ आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा और पोस्ट शेयर करना न भूले.