Insurance Kya Hai ? इन्शुरन्स की पूरी जानकारी

0

Insurance Kya Hai ? क्या आप इन्शुरन्स क्या है जानना चाहते है तो हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़े. आप सभी ने इन्शुरन्स के बारे में कभी न कभी जरुर सुना होगा. इन्शुरन्स का जिक्र टीवी, रेडियो, अखबार, मैगज़ीन विज्ञापन में आपने बहुत बार देखा होगा लेकिन आपको समझ न आया हो की Insurance Kya Hai इसलिए हम यह पोस्ट लिख रहे है. इन्शुरन्स एक ऐसी चीज है जो आपके लिए काफी फायदे का सौदा साबित हो सकती है. बहुत से लोगो को इन्शुरन्स क्या है पता नहीं होता जिस वजह से वह लोग इसका फायदा नहीं उठा पाते. हमारे वेबसाइट पर आपको सभी जानकारी हिंदी में मिलती है इस बार भी हम Insurance Ki Jankari हिंदी में हासिल करेंगे. तो दोस्तों चलिए जानते है Insurance Kya Hai पूरी जानकारी हिंदी में.

insurance kya hai

Insurance आज के समय में बहुत ही जरुरी है क्यूंकि हमें खुद नहीं पता होता की अगले कुछ पल में हमारे साथ क्या होने वाला है. दुनिया में कुछ भी स्थायी नहीं है चाहे वह किसी जीव की ज़िन्दगी हो या किसी निर्जीव की सभी को एक दिन नष्ट हो ही जाना है. जिंदगी किसी ने नहीं देखा किसी पढ़े लिखे विद्वान को भी यह मालूम नहीं होता की उसके साथ आगे क्या होने वाला है. ऐसा माना जाता है की हम सभी भगवन के कठपुतली है वह जैसा चाहेगा वैसा ही हमारे साथ होता है. ऐसे में हमारे पास पहले से कोई इंतजाम होना चाहिए जो ऐसे मुश्किल घड़ी में हमारा साथ दे. क्या पता कल किसी दुर्घटना का सामना आपको करना पड़े ऐसे विपत्ति स्थिति के लिए आपको पहले से तैयार रहना चाहिए. क्यूंकि कल जब आप न रहे हो तो आपके परिवार को आर्थिक सहायता की जरुरत पड़ सकती है.

Insurance का काम इन्हीं विपत्ति के स्थिति में खुद को आर्थिक रूप से सपोर्ट करने के लिए किया जाता है. जब आप किसी चीज का बीमा करवा लेते है तो आप चिंता मुक्त महसूस करते हो. इन्शुरन्स के लिए बहुत से कंपनी है जिनके अपने कुछ नियम है अगर आप उन नियम का पालन करते हो और कोई भी नुकसान होता है तो इसका सारा खर्चा इन्शुरन्स कंपनी ही उठाती है. अगर किसी का पूरा परिवार एक ही सदस्य पर निर्भर करता है तो ऐसे में इन्शुरन्स काफी महत्व रखता है. अगर आपको लगता है की किसी चीज में आपको आगे नुकसान हो सकता है तो इसके लिए आपको पहले से तैयार रहना चाहिए. Insurance Kya Hai ? Insurance Ki Jankari ? Insurance Ke Prakar इन सभी बातों को जानने के लिए आपको हमारा यह पोस्ट जरुर पढ़ना चाहिए. अगर किसी को इन्शुरन्स की बिलकुल भी जानकारी नहीं है तो यह पोस्ट पढ़े.

Insurance Kya Hai ? पूरी जानकारी:

Insurance का मतलब अगर हम सीधे शब्दों में जाने तो इन्शुरन्स कंपनी आपके किसी भी प्रकार का नुकसान, दुर्घटना, बीमारी व मृत्यु के बाद आपके बीमा अमाउंट के रूप में आपको या आपके किसी परिवार के सदस्य को आर्थिक मदद प्रदान करती है.

Insurance की जरुरत इसलिए बढ़ती जा रही है क्यूंकि आजकल दुर्घटना व गंभीर बीमारी काफी सामान्य हो गयी है. आप अगर सड़क पर निकलते हो तो हर जगह कार, बाइक, ट्रक जैसे वाहन नज़र आते है इनकी स्पीड भी काफी अधिक होती है. अगर कोई पैदल चल रहा हो उसको भी उतना ही खतरा होता है जितना किसी वाहन में बैठे व्यक्ति को. दूसरी तरफ प्रदुषण, ग्लोबल वार्मिंग, फैक्ट्री, केमिकल काफी तेजी से मानव के जिंदगी के लिए खतरा बनता जा रहा है इन समस्याओं के वजह से लोग कम उम्र में ही गंभीर बीमारी के चपेट में आ जाते है. अगर किसी घर में सिर्फ एक ही कमाने वाला व्यक्ति हो और कोई इसी तरह के आपदा का शिकार हो जाये तो घर के बाकि सदस्यों पर भी मुशिबतों का पाहड़ टूट पड़ता है. इसका सबसे अच्छा उदहारण यहीं है की पहले लोग 100 साल तक जीते थे आजकल यह घटकर 60-70 के बीच रह गया है हम चाहते हुए भी लाचार है क्यूंकि जो चीजे हमारे नुकसान का कारण है वही हमारी जरुरत भी बन चुकी है. इन्शुरन्स कंपनी का काम यही होता है की दुर्घटना या मृत्यु के बाद आपके परिवार के किसी सदस्य को मुआवजा प्रदान करते है.

Insurance काफी प्रकार के नुकसान के लिए किया जाता है चाहे फ़ोन चोरी होना, दुकान में आग लगना, गाड़ी दुर्घटना, बीमारी की समस्या आदि. इस पोस्ट में हम आगे इन्शुरन्स के सभी प्रकार को विस्तार से समझने की कोशिश करेंगे. इन्शुरन्स कितना जरुरी है आप इसी बात से समझ सकते है की सरकार ने 2 या 4 पहिया वाहन पर अनिवार्य कर दिया है. बहुत से लोग इन्शुरन्स के लाभ से इसलिए वंचित रह जाते है क्यूंकि उन्हें इन्शुरन्स की पूरी जानकारी नहीं होती. अब तक हम Insurance Kya Hai यह समझ चुके है लेकिन अभी भी बहुत कुछ जानना बाकि है क्यूंकि मैंने आप सभी से वादा किया था की इस पोस्ट में Insurance Ki Puri Jankari मिलेगी.

Insurance Kyu Jaruri Hai:

  1. अगर घर में सिर्फ एक ही कमाने वाला व्यक्ति हो उस स्थिति में इन्शुरन्स काफी जरुरी समझा जाता है. ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि पुरे घर की जिम्मेदारी उसी एक व्यक्ति पर निर्भर करती है. घर के मुखिया के पास बहुत से जिम्मेदारी होती है जैसे की रासन का खर्चा, बच्चो की पढ़ाई का खर्चा, घर में कोई बीमार हो उसका खर्चा, बिजली पानी गैस और फ़ोन बिल का खर्चा भी घर का मुखिया ही उठाता है. बिना मुखिया के कोई सोच भी नहीं सकता घर की क्या दशा होगी इसलिए जरुरी है की हम पहले से तैयार रहे. इन्शुरन्स करवाने से यह फायदा होगा की अगर मुखिया के साथ कभी कोई दुर्घटना होती है तो घर के सदस्यों को इन्शुरन्स कंपनी से मुआवजा मिलता है.
  2. इंसान का स्वभाव हमेशा ऐसा ही रहा है की वह भविष्य को लेकर काफी चिंतित रहते है. ऐसे में अगर आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है, बच्चो की पढ़ाई की जिम्मेदारी है, बेटी की शादी करवानी है, बिज़नस में गिरावट हो रही है तो स्वाभाविक है की आप रात में अच्छी नींद भी नहीं ले सकते है. इन्शुरन्स करवाने के बाद आपके मन को यह दिलासा जरुरत रहता है की अगर कभी कोई दुर्घटना हुई तो आर्थिक मदद आपको मिल जाएगी.
  3. बीमारी आजकल लोगो की जिंदगी में आम हो गयी है उम्र के साथ बीमारी भी बढ़ती जाती है आपको खुद नहीं पता होता कोनसी बीमारी कब हो जाये. ऐसे स्थिति के लिए हमें पहले से तैयार रहना चाहिए अगर इन्शुरन्स आपके पास होता है तो मेडिकल का सारा खर्चा इन्शुरन्स कंपनी ही उठाती है.
  4. बहुत से लोग अच्छे स्मार्टफ़ोन के पीछे अपने पुरे महीने की सैलरी खर्च कर देते है ऐसे में वह चोरी हो जाता है तो हमें काफी अफ़सोस होता है. इन्शुरन्स करवाने से चोरी हो चुके फ़ोन का खर्चा आपको वापस मिल सकता है.
  5. आप जिस वाहन की सवारी करते है चाहे वह दो या चार पहिये की हो अगर सवारी करते समय कभी कोई टक्कर हो जाये तो गाड़ी का नुकसान हो सकता है. इन्शुरन्स आपके वाहन के नुकसान का खर्चा भी आपको देती है आजकल गाड़ी लेने के साथ ही इन्शुरन्स करवाना अनिवार्य हो गया है.
  6. आप जिस घर में रहते हो वह आपने काफी मेहनत और पैसे खर्च करके बनायीं होगी. भूकंप, दंगे, बाढ़, हड़ताल, हमला में घर का कोई नुकसान होता है तो इसका खर्चा भी इन्शुरन्स कंपनी के द्वारा वापस मिल जाता है.

Insurance Ke Fayde:

  • यह आपके लिए फाइनेंसियल सपोर्ट की तरह होती है. अगर भविष्य में कुछ गलत होता है उसकी भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करती है.
  • जीवन बीमा में आपके गुजरने के बाद आपके परिवार के लिए आर्थिक मदद का कार्य इन्शुरन्स कंपनी के हाथ में होता है.
  • इन्शुरन्स में आपको प्रीमियम अमाउंट देना होता है जिससे आपके अन्दर मनी सेविंग करने की आदत बन जाती है.
  • इन्शुरन्स लेने के बाद नुकसान की भरपाई के लिए हमें किसी दुसरे व्यक्ति पर निर्भर नहीं होना पड़ता और आप आत्मनिर्भर महसूस करते हो.
  • अगर आपने कोई इन्शुरन्स पॉलिसी ले रखी है तो उस पॉलिसी के आधार पर इन्शुरन्स कंपनी आपको लोन भी दे सकती है.
  • आपके बच्चो को एजुकेशन के लिए आर्थिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ता.
  • यह बिज़नस रिस्क और लोस में भी सहायक साबित होता है.

Insurance Ke Nuksan:

  • इन्शुरन्स पॉलिसी लेते समय आपको इनके नियम और शर्तो को अच्छे से पढ़ना चाहिए क्यूंकि यह काफी ट्रिकी होते है जिस वजह से आप धोखा खा जाते है और नुकसान की भरपाई नहीं हो पाती.
  • अपने नुकसान का अमाउंट लेने में काफी समय व्यर्थ हो जाता है क्यूंकि इन्शुरन्स कंपनी भरपाई करने से पहले काफी कानूनी और कागजी कार्रवाई करते है.
  • यह नुकसान के अमाउंट को कम से कम देने का प्रयत्न करते है ताकि इनका प्रॉफिट ज्यादा से ज्यादा हो.
  • कभी कभी ऐसा भी होता है की जितना आपने प्रीमियम अमाउंट इन्शुरन्स कंपनी को दिया उससे कम अमाउंट ही आपको नुकसान की भरपाई में वापस मिलता है.
  • यह समाज में अपराध को बढ़ावा देता है क्यूंकि कुछ लोग इन्शुरन्स अमाउंट पाने के लालच में गलत तरीके से इसका दुरूपयोग करते है.

इन्शुरन्स के प्रकार:

Life Insurance:

जिंदगी का कोई भरोसा नहीं आज है तो कल नहीं लोगो में हमेशा डर बना रहता है कही कुछ हो जाये तो हमारे परिवार की देखभाल कौन करेगा. आजकल कोई किसी का अपना नहीं होता इसलिए आप अपने परिवार को किसी रिश्तेदार के भरोसे भी नहीं छोड़ सकते. अगर कल जा कर आपको कुछ हो जाता है और आपने पहले ही जीवन बीमा करवा रखा है तो आपके परिवार को आर्थिक रूप से काफी मदद मिल सकती है. जीवन बीमा उन सभी लोगो को करवाना चाहिए जो पुरे परिवार का खर्चा अकेले उठाते है. ऐसा मैं इसलिए बोल रहा हूँ क्यूंकि हमें खुद नहीं पता होता हम कितने दिन जीवित रहेंगे. अगर आपने जीवन बीमा नहीं करवाया होगा तो आपके गुजरने के बाद आपके परिवार की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हो जाएगी. जीवन बीमा हमारे देश में काफी लोकप्रिय और सबसे अधिक करवाई जाने वाली बीमा है . इसलिए आप सभी को मैं यही सलाह दूंगा की इस बीमा को जरुर करवाए यह आपके परिवार के लिए काफी महत्व रखता है.

Health Insurance:

जितना जीवन बीमा महत्व रखता है उतना ही महत्व स्वास्थ्य बीमा का भी है. अब हम समझते है स्वास्थ्य बीमा क्या है और यह क्यूँ जरुरी है. स्वास्थ्य बीमा इसलिए महत्व रखता है क्यूंकि हमारे चारो तरफ बीमारी का खतरा हमेशा बना रहता है. आजकल पहले से ज्यादा बीमारी हो गये है हर साल कोई नई बीमारी के बारे में पता चलता है जिसका नाम हमने पहले कभी सुना ही न हो. ऐसे ही इनका इलाज भी काफी महंगा होता है और लाखो रुपया भी इनके उपचार में लग जाते है. आप जितनी मर्ज़ी बचने की कोशिश करे कभी न कभी हम अपने जिंदगी में बीमार जरुर पड़ते है शायद यह कुदरत का नियम हो. अगर आपके पास स्वास्थय बीमा होता है तो आप हॉस्पिटल के महंगे बिल से बच सकते है जिसका पूरा खर्चा इन्शुरन्स कंपनी उठाती है. स्वास्थ्य बीमा करवाते समय यह देख लेना चाहिए की इन्शुरन्स कंपनी कितने लिमिट तक खर्चा उठाने को तैयार है और किस हॉस्पिटल में इलाज का विकल्प मोजूद है. स्वास्थ्य बीमा एक साथ पुरे परिवार के लिए भी किया जा सकता है आजकल बहुत से इन्शुरन्स कंपनी में यह सुविधा प्रदान किया जाता है.

Home Insurance:

आजकल घर बनाने में लाखो रुपया लग जाता है तब एक घर बन कर तैयार होता है. अगर आप दिल्ली, मुंबई, गोआ, बेंग्लरू जैसे शहरो में रहते है तो यहाँ एक छोटा घर बनाने में भी बहुत से लोगो की जीवन भर की कमाई लग जाती है. प्राकृतिक आपदा के समय बहुत बार घर टूटने की खबरे आपने न्यूज़ चैनल में सुनी होगी. आजकल छोटी बातों पर भी लोग दंगा, हड़ताल, पत्थरबाजी  शुरू कर देते है ऐसे में भी घर को काफी नुकसान पहुँच सकता है. अब मान लीजिये आपने एक घर बनाने में अपनी पूरी जिंदगी की कमाई लगा दी और भूकंप, आग लगने, दंगा या बाढ़ के कारण अगर घर को कुछ होता है तो यह किसी बुरे सपने कम नहीं होगा. इसलिए घर का बीमा भी जरुरी माना जाता है खासकर उन लोगो के लिए जिनके शहर में प्राकृतिक आपदा या दंगा फसाद होते रहते है.

Child Insurance:

एक जिम्मेदार पेरेंट्स वही होते है जो अपने बच्चो के हित के लिए सोचते है. हर माता पिता यही चाहते है की उनके बच्चो को भविष्य में पैसो के अभाव में कोई दिक्कत न हो. एक माता पिता को क्या चाहिए की उनका बच्चा पढ़ लिखकर इंजिनियर, डॉक्टर, टीचर, ऑफिसर या कोई दूसरा प्रतिष्ठित काम करे जहा उन्हें सम्मान भी मिले. आजकल अगर आप देखे तो एजुकेशन एक बिज़नस बन कर रह गया है स्कूल कॉलेज की सलाना फीस लाखो में होते है. ऐसे में अगर आपके पास पैसे न हो तो आपका बच्चा अच्छी एजुकेशन नहीं ले पायेगा जो बच्चे के भविष्य को अंधकार की तरफ ले जाते है. इसलिए एक जिम्मेदार पेरेंट्स का यह कर्त्तव्य बनता है की वह अपने बच्चो के एजुकेशन फीस के लिए पहले से तैयार रहे. बाल बीमा करवाने से आपके बच्चे का भविष्य सुरक्षित हो जाता है और एजुकेशन के साथ आप उनकी शादी तक का खर्चा भी उठा सकते हो.

Vehicle Insurance:

रोड पर हजारो गाड़ियाँ आती जाती रहती है जिस वजह से दुर्घटना होने की संभावना भी बनी रहती है. कई बार रास्ते में गाड़ी चलाते समय अगर कोई सामने आ जाये या फिर कोई गड्ढा हो तो हम अपना संतुलन खो देते है. इस चक्कर में साथ चल रहे वाहन से भी टक्कर हो जाती है. टक्कर होने के बाद तीन संभावना बनी रहती है आपके वाहन का नुकसान, सामने वाले वाहन का नुकसान या फिर दोनों वाहन का नुकसान हो सकता है. गाड़ी के अगर जरुरी पुर्जे को नुकसान हुआ हो तो इसकी मरम्मत में काफी पैसे भी खर्च हो जाते है. वाहन बीमा रखने से वाहन के नुकसान का खर्चा इन्शुरन्स कंपनी को उठाना पड़ता है. वाहन बीमा सरकार द्वारा अनिवार्य हो गया अगर आप बिना वाहन बीमा गाड़ी चलाते हो तो इसका चालान भरना पड़ सकता है.

Travel Insurance:

ज्यादातर लोग हर साल यात्रा के लिए कही न कही जाते ही है या फिर किसी आपातकालीन स्थिति में हमें यात्रा करना पड़ सकता है. यात्रा के दौरान भी बहुत से घटना होने की संभावना बनी रहती है जैसे की बीमार होना, सामान का चोरी होना, किसी प्रकार की दुर्घटना, चोट लगना आदि. इन सभी घटना में हमारा काफी नुकसान हो सकता है ऐसे में यात्रा बीमा करवाने से हमारे नुकसान की भरपाई इन्शुरन्स कंपनी करती है. आपने एक चीज जरुर नोटिस किया होगा जब हम IRCTC पर रेलवे टिकेट बुक करते है वहाँ भी इन्शुरन्स करवाने का आप्शन मोजूद होता है. IRCTC आपके लिए यात्रा बीमा सिर्फ 49 पैसे में करती है और आप इस बीमा से 10 लाख तक का लाभ उठा सकते है.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में जाना Insurance Kya Hai Insurance Ki Jankari हिंदी में. इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको बहुत कुछ जानने को मिला होगा जैसे की इन्शुरन्स क्या है, इन्शुरन्स क्यूँ जरुरी है, इन्शुरन्स के फायदे, इन्शुरन्स के नुकसान, इन्शुरन्स के प्रकार आदि. इस पोस्ट को लिखना मैंने इसलिए जरुरी समझा क्यूंकि आज भी बहुत से लोग ऐसे जिन्हें इन्शुरन्स की बिलकुल जानकारी नहीं होती जिस वजह से वह इन्शुरन्स का लाभ नहीं उठा पाते. पोस्ट ख़तम करने से पहले आपको यह बताना चाहूँगा की इन्शुरन्स लेते समय उनके नियम व शर्तें को अच्छी तरह समझे वरना बाद में इन्शुरन्स अमाउंट वापस लेने में दिक्कत हो सकती है. अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया हो तो शेयर जरुर करे.