मछली पालन कैसे करे ? पूरी जानकारी

0

Machli Palan Kaise Kare ? क्या आप मछली पालन करना चाहते है ? अगर कोई मछली पालन करने का तरीका जानना चाहता है तो हमारा यह पोस्ट जरुर पढ़े. मछली पालन के व्यवसाय में काफी मुनाफा देखा जाता है आप इस व्यवसाय के लागत के 5 से 10 गुणा आसानी से कमा सकते हो. मछली खाने का शौक बहुत से लोग रखते है और इस व्यवसाय को आप पुरे साल कर सकते हो. हम इससे पहले भी बहुत से Business Ideas जान चुके है उनमे से एक मछली पालन भी है. लेकिन बहुत से लोगो को पता नहीं होता की Machli Palan Kaise Kare अगर किसी भी व्यक्ति को मछली पालन की जानकारी चाहिए हो तो हमारा यह पोस्ट पूरा पढ़े.

machli palan

आप सभी जानते हो हमारे देश की जनसंख्या 130 करोड़ से भी ज्यादा है लेकिन क्या आपको पता है इतने जनसंख्या में कितने प्रतिशत लोग मछली खाना पसंद करते है ? जी आपको सुन कर हैरानी होगी की हमारे देश की 60% आबादी मछली खाने का शौक रखते है. इस हिसाब से देखा जाये तो मछली पालन करके भी हम अच्छी कमाई कर सकते है बस इसके लिए हमें सही तरीका पता होना चाहिए. मछली पालन के लिए आपको ज्यादा पैसो की जरुरत नहीं पड़ती और पैसे डूबने का रिस्क भी बहुत कम होता है यही बात इस व्यवसाय को खास बनाती है. मछली पालन के लिए आपको बहुत से बातों का ध्यान रखना पड़ता है ताकि इस व्यवसाय को सफलतापूर्वक चलाया जा सके आज हम उन्हीं बातों को जानने वाले है.

मछली काफी पौष्टिक आहार माना जाता है इसमें लो फैट होता है और बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन. ओमेगा-3 फैटी एसिड पाए जाने के कारण भी मछली स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है. मछली में विभिन्न प्रकार के विटामिन, खनिज और कई अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं इसलिए मछली का सेवन शरीर की कई जरूरतों को पूरा करता है. मछली को अगर सही तरीके से पकाया जाये तो यह खाने में काफी स्वादिष्ट होता है यही कारण है की इंडिया के 60% लोग इसे खाना पसंद करते है. इसके अलावा देश विदेश में भी खूब मछली पालन किया जाता है चीन की बात करे तो यह पुरे दुनिया भर में 62% मछली पालन करते है.

मछली पालन कैसे करे ? पूरी जानकारी:

मछली पालन का मतलब मछलियों को पालने से है जिससे उनका आकार बढ़े और अपनी तरह ही दुसरे मछलियों को जन्म दे इसे ही मछली पालन कहा जाता है. मछली सबसे अधिक पसंद किये जाने वाला समुद्री भोजन होता है जो न सिर्फ इंडिया में बल्कि दुनिया भर में काफी चाव से खाया जाता है.

तालाब तैयार करे:

मछली पालन के लिए सबसे पहले हमें तालाब की जरुरत पड़ती है जिसमे मछली को आराम से रखा जा सके. तालाब बनाने के लिए आपको जमीन की जरुरत पड़ेगी जिसे खोदना होगा और तालाब का आकार देना होगा. समय बचाने के लिए मशीन की मदद ले सकते हो अगर आपके पास बजट कम है तो फावड़े की मदद से खुद भी जमीन खोद सकते हो. किसी ऐसे जमीन पर तालाब बनाये जहा आसपास खेती न होती हो क्यूंकि किसान ज्यादा उपज के लिए कीटनाशक और उर्वरक का इस्तेमाल करते है. अगर यह केमिकल आपके तालाब तक आ जाता है तो तालाब का पानी दूषित हो जायेगा और मछली पालन में दिक्कत आएगी. अपने तालाब के पानी को हर हफ्ते साफ़ करे और इस बात की भी जांच होनी चाहिए की पानी का pH 7 से 8 के बीच होना चाहिए इससे मछलियों की उत्पादन क्षमता बढ़ती है. जिस भी जगह तालाब का निर्माण करे उसके आसपास यह सुनिश्चित करे की परिवहन की सुविधा होनी चाहिए ताकि मछली को मार्किट तक ले जाने में आसानी हो. इस बात का भी ध्यान रहे की आस पास किसी जंगली जानवर, मेंढ़क, केंकड़े आदि न हो जिससे मछली को नुकसान पहुँच सकता हो. तालाब ऐसा होना चाहिए जिसमें कम से कम 5-6 फुट तक पानी भरा रहे. यदि तालाब में जलीय खरपतवार या पौधे हों तो उन्हें उखाड़ देना चाहिए. इस तरह के जलीय पौधे तालाब की मिट्टी और पानी में उपलब्ध भोजन तथा पौष्टिक तत्वों को कम कर देते हैं

अगर आप छोटे स्तर और कम बजट में मछली पालन शुरू करना चाहते है तो प्लास्टिक के टैंक से भी काम चलाया जा सकता है. आप इन टैंक में मछलियों को रख सकते हो और एक तालाब की तरह ही वातावरण तैयार कर सकते हो. प्लास्टिक टैंक आपको ऑनलाइन के साथ किसी प्लास्टिक के दुकान पर भी मिल जायेगा. आप इस टैंक को अपने छत पर या किसी खाली जगह रख सकते हो जहा यह सुरक्षित हो.

मछली की प्रजातियां:

मछली के बहुत से प्रजातियां देखने को मिलते है यह आप पर निर्भर करता है की आप किस प्रजाति के मछली का पालन करना चाहते हो. अगर हम इंडिया की बात करे तो यहा ज्यादातर रोहू, कतला, कैटफ़िश, ग्रास कार्प, हिल्सा आदि को ज्यादा पसंद किया जाता है. आप जिस भी मछली का पालन करे इस बात का जरुर ध्यान रहे की मार्किट डिमांड किसकी अधिक है, कितने समय में मछली बड़ी हो जाएगी, मौसम के अनुकूल कौन सी मछली बेहतर है आदि. आप इन सभी बातों की जानकारी अपने आसपास के मछुआरों से पता कर सकते है. इन मछलियों को पैदा करने के लिए आपको बीज की जरुरत पड़ेगी इसके लिए आप मत्स्य पालक विकास अभिकरण में संपर्क कर सकते हो यह सभी जिला में होता है.

मछलियों की देखभाल:

मछलियों की देखभाल करना भी काफी महत्वपूर्ण काम होता है ऐसा नहीं की सिर्फ तालाब में मछली डालने से आपका काम समाप्त हो गया. मछलियों को समय समय पर पौष्टिक खाना देना भी जरुरी होता है मार्किट में आपको रेडी मेड मछलियों के लिए आहार मिल जायेंगे. इसके साथ ही आप चाहे तो मछलियों को चावल या गेहूं के आटा के गोली और सरसों की भूसी भी दे सकते हो. मछली को जिस पानी में रखा गया है उसकी सफाई हर हफ्ते होनी चाहिए इसके साथ ही इस बात को भी सुनिश्चित कर लेना चाहिए की पानी का pH 7 से 8 के बीच हो. मछलियों पर नज़र रखे अगर ऐसा प्रतीत होता है की कोई मछली बीमार है तो उसे बाकि मछलियों से अलग कर देना चाहिए वरना सभी मछलियां बीमार हो सकती है. इसके साथ ही पानी में पोटेशियम परमैंगनेट और साल्ट यानि सोडियम को छिड़काव करे इससे मछलियों को बीमारी से बचाया जा सकता है.

मछली की मार्केटिंग:

अगर आपने मछली पालन अच्छे से सिख लिया है तो लगभग आपका काम पूरा हो जाता है अब बस आपको इसकी मार्केटिंग करनी होती है ताकि इसे व्यवसाय के रूप में जारी रखा जा सके. ज्यादातर मछलियां 1 साल के भीतर एक से डेढ़ किलो की हो जाती है और अब इन्हें मार्किट में बेचा जा सकता है. मछलियों के लिए मार्केटिंग काफी आसान है क्यूंकि इसकी डिमांड अधिक है इसलिए आपको ज्यादा भाग दौड़ करने की जरुरत नहीं पड़ती. आप सीधा इसे अपने आस पास के मार्किट में उचित दाम पर बेच सकते हो. इसके अलावा दुकानों और होटल्स में भी मछलियों को बेचा जा सकता है. मछली दुनियाभर में खाया जाता है और इससे जुड़े काफी प्रोडक्ट भी मार्किट में मिलते है इसका मतलब यह है की आप इसे विदेशो में भी सप्लाई कर सकते हो. इसके लिए बहुत कंपनी भी है जो आपके लिए इसे दुसरे देशो में सप्लाई करते है जिसकी पूरी जानकारी आपको इंटरनेट पर आसानी से मिल जाएगी.

मछली पालन के तरीके:

  • Pond System: अगर आप मछली पालन किसी बड़े स्तर पर करना चाहते है तो तालाब की जरुरत पड़ेगी. यह तालाब आपको खुद बनाना होता है इसके लिए आपके पास जमीन होनी चाहिए और उसकी खुदाई करके इसे तालाब का आकार दिया जाता है. अब इसे पूरी तरह से तालाब में परिवर्तित करने के लिए पानी की जरुरत पड़ेगी क्यूंकि बिना पानी के मछली जिंदा नहीं रह सकती. तालाब बना लेने के बाद इसमें मछली को रखा जा सकता है और मछली पालन की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है.
  • Plastic Fish Firm Tank: अगर कोई छोटे स्तर पर मछली पालन शुरू करना चाहता है तो प्लास्टिक टैंक की मदद ली जा सकती है. प्लास्टिक फिश फर्म टैंक नाम से यह जाना जाता है जो मार्किट में या फिर ऑनलाइन भी आसानी से मिल जाता है. इसका यह फायदा होता है की आप कम इन्वेस्टमेंट में भी इस व्यापार को शुरू कर सकते हो. आप टैंक को अपने छत पर या फिर गार्डन में भी रख सकते हो जहा भी खाली जगह मोजूद हो वहा इसे रखा जा सकता है.
  • Cage system: मछली पकड़ने का यह तरीका आपने टीवी में भी देखा होगा जब मछुआरा जाल फेंकता है और बहुत से मछली जाल में फस जाती है. यह काफी सरल तरीका है जिसमे खर्चा भी ज्यादा नहीं होता और मुनाफा भी अधिक देखा जाता है. इसके लिए आपको किसी जमीन पर तालाब बनाने या फिर मछली टैंक की आवश्यकता नहीं पड़ती. आप इसे आसानी से किसी समुद्र या नदी में कर सकते हो लेकिन इसके लिए आपको सरकार से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लेना होता है क्यूंकि यह आपकी प्रॉपर्टी नहीं होती.

मछली पालन के फायदे:

अगर आप मछली पालन में दिलचस्पी रखते है तो आपको इसके फायदे के बारे में पता होना चाहिए. मछली पालन के एक नहीं बहुत से फायदे है चलिए उनके बारे में जानते है.

  • लगभग 60% इंडिया के लोग मछली खाना पसंद करते है. इसका कारण इसमें मोजूद पौष्टिक है जो बॉडी के लिए काफी जरुरी है और यह खाने में भी स्वादिष्ट लगता है.
  • मछली की ज्यादा डिमांड होने के कारण इसकी कीमत भी ज्यादा होती है इसलिए आपकी कमाई भी ज्यादा होगी.
  • मछली को आप विदेशो में भी सप्लाई कर सकते हो जिससे आपकी इनकम और बढ़ जाती है.
  • इंडिया की जलवायु मछली पालन के बिलकुल उचित है.
  • इंडिया में आपको बहुत जगह झीलें, तालाब, नदियाँ आदि देखने को मिल जाते है जिस वजह से मछली पालन में आसानी होती है.
  • मछली काफी प्रकार के होते है उनके कुछ प्रकार काफी जल्दी बड़े हो जाते है और आपको ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ता.
  • मछली पालन के लिए आपको सब्सिडी और लोन भी दिया जाता है.
  • अगर आप इस व्यवसाय में पैसा लगाते है तो आपके पैसे डूबने के रिस्क काफी कम होते है.
  • मछली पालन के लिए आपको किसी प्रकार की डिग्री या क्वालिफिकेशन की जरुरत नहीं होती इसे कोई भी व्यक्ति कर सकता है.
  • यह देश के इकॉनमी के लिए भी अच्छा है क्यूंकि इससे लाखों लोगो को रोजगार भी मिल जाता है.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने जाना की Machli Palan Kaise Kare मछली पालन की पूरी जानकारी हिंदी में. आप सभी ने पोस्ट में मछली पालन कैसे शुरू करना है इसकी पूरी जानकारी हासिल की मैं उम्मीद करता हूँ आपको बहुत कुछ सिखने को मिला होगा. मछली पालन अगर कोई शुरू करना चाहता है तो ज्यादा सोचे नहीं इसमें 2 लाख तक का इन्वेस्टमेंट लग सकता है लेकिन आप इस इन्वेस्टमेंट के 5 से 10 गुणा ज्यादा आसानी से कमा सकते हो. यह एक ऐसा व्यवसाय है जिसकी जरुरत कभी ख़तम नहीं होगी क्यूंकि लोगो के लिए यह काफी पौष्टिक भोजन माना जाता है. मछली पालन व्यवसाय के लिए अगर आपके पैसे नहीं है तो सरकार से लोन ले सकते हो इसके साथ ही मछली पालन के लिए सब्सिडी भी दी जाती है. मछली की डिमांड दुनियाभर में इतनी है की अगर आप सही ढंग से काम करे तो इस व्यवसाय में रिस्क न के बराबर है. अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले.