MBA Kya Hai ? MBA Kaise Kare पूरी जानकारी

0

MBA Kya Hai Kaise Kare ? दोस्तों आप सभी ने कभी न कभी MBA का नाम तो सुना ही होगा शायद हाँ तभी आप हमारे इस पोस्ट को अभी पढ़ रहे हो. आज हम इस पोस्ट में MBA Kya Hai, MBA Kaise Kare यह जानेंगे साथ में आपको यह भी बताया जायेगा की MBA Full Form, MBA में करियर कैसे बनाये, MBA करने से क्या फायदा होगा, MBA कौन कर सकता है आदि जैसे सवाल जो हर कोई जानना चाहता है. MBA कोर्स बहुत ही विख्यात कोर्स है जो आजकल के नौजवानों को अपनी तरफ आकर्षित कर रहे है. आप अगर कोई कोर्स करना चाहते हो तो उसके लिए आपके पास उस कोर्स की पूरी जानकारी होनी चाहिए तभी आप उचित निर्णय ले सकते है की कोर्स आपको करना चाहिए या नही. अगर कोई स्टूडेंट MBA करना चाहता है तो उन्हें यह पोस्ट जरुर पढ़ना चाहिए क्यूंकि इस पोस्ट के अंदर MBA की पूरी जानकारी मिलेगी तो दोस्तों चलिए जानते है MBA Kya Hai ? MBA Kaise Kare पूरी जानकारी हिंदी में.

mba full form

एमबीए एक प्रोफेशनल कोर्स है जिसे ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है. अगर आप भी बिज़नस मैनेजमेंट में अपना करियर बनाना चाहते है तो एमबीए आपके लिए एक बेहतरीन कोर्स साबित हो सकता है. एमबीए की शुरुवात 19 वीं सदी में हो गयी थी और इसका उदय अमेरिका में हुआ था. जब औद्योगीकरण का विस्तार होना शुरू हुआ तो सभी कंपनी अच्छा मैनेजमेंट चाहती थी इस प्रकार एक ऐसे कोर्स की जरुरत महसूस होने लगी जो लोगो को बिज़नस मैनेजमेंट के बारे में सिखा सके. इसी तरह एमबीए का जन्म हुआ पहला स्कूल जिसने एमबीए सिखाने की शुरुवात की उसका नाम The Warthon School है. वर्तमान में एमबीए काफी देशो में पढ़ाया जाता है इंडिया भी उनमे से एक है लेकिन फिर भी लोग अमेरिका से एमबीए करना ज्यादा पसंद करते है. अब समय आता है यह जानना का MBA Kya Hai ? MBA Kaise Kare पूरी जानकारी हिंदी में.

MBA Kya Hai ? MBA Kaise Kare पूरी जानकारी:

दोस्तों MBA का फुल फॉर्म Master of Business Administration होता है. यह एक पोस्टग्रेजुएट डिग्री होता है. यह कोर्स उन सभी लोगो के लिए मददगार साबित होता है जो अपना करियर बिज़नस मैनेजमेंट में बनाना चाहते है. आजकल सभी Multi National कम्पनीज में MBA प्रोफेशनल्स की मांग है. आपको MBA कोर्स करने के लिए पहले ग्रेजुएशन करना पड़ता है बिना ग्रेजुएशन के आपको कॉलेज में एडमिशन नहीं मिलेगा एडमिशन से पहले आपका Entrance Exam होता है. MBA डिग्री की शुरुवात 19 वीं सदी में अमेरिका जैसे देश से हुई है.

MBA के प्रकार:

अब हम बात करते है MBA के कितने प्रकार होते है और उन सभी के बारे में जानते है

Full Time MBA: यह दो साल का कोर्स होता है. इस कोर्स में आप MBA को गहराई से समझ सकते हो.

One Year MBA: यह कोर्स एक साल का होता है इसलिए स्टूडेंट को कम समय में ज्यादा से ज्यादा पढना होता है.

Part Time MBA: अगर आप MBA के साथ जॉब भी करना चाहते हो तो इस कोर्स को कर सकते हो. क्लासेज आपके ऑफिस टाइम ख़तम होने के बाद होती है.

Evening MBA: यह कोर्स भी फुल टाइम MBA के तरह होता है बस फर्क इतना है की क्लासेज शाम के समय होती है.

Modular MBA: अगर आप MBA जल्दी से जल्दी ख़तम करना चाहते हो तो यह कोर्स आपके लिए है इसे आप क्रेश कोर्स भी कह सकते हो.

Executive MBA: यह कोर्स करने के लिए आपके पास 5 से 10 साल तक का एक्सपीरियंस होना जरुरी है. इस कोर्स का सिलेबस कुछ इस प्रकार का है की जब तक आपको बिज़नस इंडस्ट्री की समझ नहीं हो तो आप इसे नहीं समझ सकते.

Top Colleges of MBA, Entrance Test, Cut Off, Last Date, Fee, Salary:

मुझे पता है इस पोस्ट के बाद बहुत से सवाल आने वाले है की कोनसे कॉलेज से MBA करे ? MBA के लिए अप्लाई कब करे ? MBA की फीस कितनी है ? MBA करने के बाद सैलरी कितनी है ? इसलिए मैंने नीचे एक टेबल दे रखा है इसमें वो सभी जरुरी जानकारी है जो हर MBA करने वाला जानना चाहता है.

आने वाले समय में भी और अभी भी MBA की काफी मांग है एक बार डिग्री मिलने पर इंडस्ट्रियल छेत्र में आपको आसानी से जॉब मिल जायेगा. MBA प्रोफेशनल होना ही गर्व की बात है. MBA प्रोफेशनल सरकारी या प्राइवेट किसी भी इंडस्ट्री में काम कर सकता है. MBA आप हिंदी मीडियम या फिर इंग्लिश मीडियम से भी कर सकते हो लेकिन देखा जाये तो इंग्लिश मीडियम की मांग ज्यादा है हिंदी मीडियम के मुकाबले इसलिए यह आपको तय करना है की आपके लिए क्या बेहतर है.

MBA Eligibility:

अगर आप जानना चाहते है की एमबीए कौन कर सकता है तो मैं आपको बताना चाहूँगा की एमबीए वो हर व्यक्ति कर सकता है जिसने अपनी ग्रेजुएशन पूरी की हो और ग्रेजुएशन में आपके कम से कम 50% होने चाहिए तभी आप एमबीए के लिए फॉर्म भर सकते है. एमबीए करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम भी देना होता है जिसे हम CAT (Common Admission Test) कहते है. एंट्रेंस एग्जाम देने के बाद आपके मेरिट के आधार पर एमबीए के लिए चुना जाता है इसलिए एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी अच्छे से करनी होगी. वैसे कुछ प्राइवेट कॉलेज डायरेक्ट एडमिशन भी देते है लेकिन उनकी फीस काफी ज्यादा होती है.

MBA Fees:

अगर आप एमबीए फीस की बात करे तो यह पूरी तरह से कॉलेज पर निर्भर करता है. अगर आप एमबीए किसी सरकारी कॉलेज से करते हो तो इसकी फीस 2 लाख तक हो सकती है वहीं प्राइवेट कॉलेज की फीस 8 लाख से 25 लाख तक के आसपास हो सकती है. जिस भी कॉलेज से आप एमबीए करना चाहते है उस कॉलेज के वेबसाइट पर आपको इसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी.

MBA Specialization:

MBA के पहले साल में आपको बिज़नेस की बेसिक जानकारी दी जाती है MBA के दुसरे साल में आपको किसी एक फील्ड में Specialization करना होता है. Specialization करने से आपको उस फील्ड की अच्छी समझ हो जाती है और आगे भविष्य में आपको जॉब उसी के आधार पर मिलती है. इसलिए यह जरुरी है की आप किसी अच्छे Specialization में जाये जिसकी मार्किट में डिमांड भी ज्यादा हो. आप जिस भी Specialization को चुने उसमे आपकी रूचि होनी चाहिए तभी आप बेहतर कर सकते हो. आपके जानकारी के लिए कुछ पोपुलर Specialization के नाम इस प्रकार है.

  • Marketing: आजकल हर कंपनी को मार्केटिंग की जरुरत तो पड़ती है ताकि उनके साथ ज्यादा से ज्यादा नए ग्राहक जुड़े. यह स्पेशलाइजेशन उनके लिए है जो मार्केटिंग को समझना चाहते है और सीखना चाहते है.
  • Finance: फाइनेंस को सिखने के लिए इस स्पेशलाइजेशन में जा सकते हो. इसे सिखने के बाद कोई व्यक्ति इन्वेस्टमेंट बैंकिंग, इंस्टीट्यूशनल फाइनेंस, मर्चेंट बैंकिंग, कॉर्पोरेट फाइनेंस और इंटरनेशनल फाइनेंस के फील्ड में जा सकता है.
  • International Business: अगर कोई कंपनी अपने व्यापर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाना चाहती है तो उसे ऐसे व्यक्ति की तलाश होगी जिसे इंटरनेशनल बिज़नेस की अच्छी समझ हो जो की इस स्पेशलाइजेशन में सिखाया जाता है.
  • Entrepreneurship: किसी भी Start Up को चलाने के लिए Entrepreneur की जरुरत पड़ती है तो इस स्पेशलाइजेशन में आपको इंटरप्रेन्योर की पूरी समझ मिलती है.
  • Operations Management: किसी भी बिज़नेस को सुचारू रूप से चलाने के लिए Planning, Organizing, Controlling और Supervising की जरुरत पड़ती है जो इस स्पेशलाइजेशन में आपको सिखाया जाता है. यह उनके लिए ज्यादा बेहतर है जो इंजीनियरिंग बैकग्राउंड से संबंध रखते है.
  • Health Care Management: नाम से ही पता चल रहा की सेहत से जुड़े जितने भी डिपार्टमेंट और हॉस्पिटल है उनकी मैनेजमेंट कैसे करनी है वह इस स्पेशलाइजेशन में सिखाया जाता है. अगर कोई हेल्थ सेक्टर में जाना चाहता है लेकिन उन्हें मरीज की देखभाल करने से कुछ अलग करना है तो हेल्थ केयर मैनेजमेंट कर सकते है.

MBA Career Options:

  • Management
  • Marketing
  • Human Resources
  • Finance
  • Accounting
  • Sales
  • Healthcare

MBA के फायदे:

  • अगर कोई MBA की डिग्री सफलतापूर्वक हासिल करता है तो वह किसी बड़ी कंपनी में अच्छी सैलरी पर काम कर सकता है.
  • MBA करने के बाद आपको बिज़नेस और इंडस्ट्री की अच्छी समझ हो जाती है. इसका सबसे बड़ा फायदा है की आप अपना व्यवसाय कर सकते हो और अच्छी टीम बना सकते हो जो अपने काम के प्रति वफादार रहे.
  • जैसा की अभी हमने ऊपर जाना MBA करने के बाद काफी करियर आप्शन के द्वार खुल जाते है आप किसी में भी जा सकते हो.
  • MBA करने के बाद आप PhD कर सकते हो और किसी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बन सकते हो.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में जाना की MBA Kya Hai ? MBA Kaise Kare. मैंने आपको MBA क्या है कैसे करे के साथ यह भी बताया की MBA Full Form, MBA के फायदे, MBA की फीस, MBA कौन कर सकता है, MBA की सैलरी, आदि की भी पूरी जानकारी दी. उम्मीद करता हूँ अब आपको MBA से सम्बंधित सभी सवालो के जवाब मिल गए होंगे. अगर आपकी MBA करने में दिलचस्पी है तो ज्यादा सोचे नही और CAT एग्जाम की तैयारी करे जिससे आपका एडमिशन भी किसी अच्छे MBA कॉलेज में आसानी से हो जाये. MBA करने के बाद आप किसी बड़ी कंपनी में जॉब कर सकते हो जहा आपको सैलरी भी अच्छी मिलती है. अगर आपको हमारा यह पोस्ट MBA क्या है MBA कैसे करे पसंद आया हो तो शेयर जरुर करे.