SIM Full Form: सिम का फुल फॉर्म क्या है ?

SIM Full Form: सिम का फुल फॉर्म क्या है ?

SIM Full Form ? दोस्तों इस पोस्ट में हम SIM का Full Form जानेंगे की SIM Full Form क्या होता है. आप सभी सिम का उपयोग करते हो लेकिन क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की SIM का Full Form क्या है. मैं यह चाहता हूँ की सभी को SIM का Full Form मालूम होना चाहिए इसलिए मैं यह पोस्ट लिख रहा हूँ इस पोस्ट में मैंने SIM का Full Form बता रखा है आप सभी इस पोस्ट को पढ़े और पसंद आए तो अपने दोस्तों को भी बताये. तो चलिए जानते है SIM का Full Form क्या होता है.

sim full form

 

दोस्तों अगर आप मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल करते हो तो आपको भी पता होगा किसी भी मोबाइल से बात करने के लिए सिम का होना बहुत जरुरी है. अगर आपके फ़ोन में किसी भी कंपनी का सिम नही होगा तो आप कॉल और मेसेज जैसे सुविधा का लाभ नही उठा सकते. सिम का आकार बहुत ही छोटा है एक मेमोरी कार्ड जितना लेकिन इसके अंदर एक चिप लगा होता है जो सिर्फ मोबाइल पढ़ सकता है. सिम आपको किसी भी टेलिकॉम स्टोर पर मिल जायेगा बस आपके पास आधार कार्ड होना चाहिए और आपकी उम्र भी 18 साल से ऊपर की होनी चाहिए. बहुत बार ऐसा भी हो जाता है की मोबाइल चोरी होने के साथ हमारा सिम भी चोरी हो जाता है ऐसे में आपको वो सिम जल्दी से जल्दी बंद कर देना चाहिए मैंने इस विषय पर एक पोस्ट भी लिखी है सिम कैसे बंद करे यह पोस्ट भी जरुर पढ़े. हम लोग सिम का नाम तो बहुत बार सुने है लेकिन कभी यह नही पता किया की SIM Full Form क्या होता है इसलिए आज मैं यह पोस्ट आप सभी के लिए लिख रहा हूँ.

SIM Full Form: सिम का फुल फॉर्म क्या है ?

सिम का फुल फॉर्म Subscriber Identification Module होता है. सिम कार्ड दिखने में प्लास्टिक के एक टुकड़े जैसा होता है लेकिन इस प्लास्टिक के टुकड़े में इंटीग्रेटेड चिप होता है जो सिर्फ मोबाइल पढ़ सकता है हर सिम कार्ड में unique information, phone number और data store होता है जो हर नेटवर्क के लिए निश्चित है यही आपको कम्युनिकेशन सर्विस इस्तेमाल करने में मदद करता है. अगर सिम कार्ड नहीं होगा तो आप मेसेज, कॉल और इन्टरनेट का उपयोग अपने फ़ोन में नहीं कर सकते. हमारे भारत में भी बहुत से टेलिकॉम ऑपरेटर है यह सभी अपने ग्राहकों को सिम कार्ड उपलब्ध कराते है जैसे की एयरटेल, वोडाफ़ोन, आईडिया, जिओ, रिलायंस आदि. सिम कार्ड में थोड़ी बहुत मेमोरी भी होती है जो 250 कांटेक्ट सेव रख सकता है, मेसेज भी सेव रखता है साथ में कुछ जरुरी जानकारी भी. पहला सिम कार्ड जो बना था वो क्रेडिट कार्ड जितने आकार का था लेकिन धीरे धीरे इसका आकार कम होता गया और आज मिनी और माइक्रो सिम कार्ड बन गए है जो बहुत छोटे होते है.

अब बात करते है GSM और CDMA सिम के बारे में यह क्या है और इन दोनों में क्या फर्क है. देखिये जब हम सिम की बात करते है तब हमारे दिमाग में दो नाम सबसे पहले आते है GSM और CDMA लेकिन हमें पता नहीं होता की इन दोनों में क्या अंतर है और यह एक दुसरे से किस तरह भिन्न है. मैं ज्यादा टेक्निकल न होते हुए आपको आम भाषा में समझा देता हूँ, देखिये GSM जो होता है उसे आप किसी भी मोबाइल में इस्तेमाल कर सकते हो मान लीजिए आपके एक फ़ोन की बैटरी ख़तम हो जाती है तो आप उस सिम कार्ड को किसी दुसरे मोबाइल में लगाकर इस्तेमाल कर सकते हो. जबकि CDMA में ऐसा नहीं होता CDMA सिम आपको फ़ोन के साथ पहले से ही मिलता है आप सिम बाहर नहीं निकल सकते सिम उसी कंपनी का होता है जिस कंपनी का मोबाइल है उदहारण के लिए रिलायंस में आपको CDMA का आप्शन भी मिलता है मतलब सिम और फ़ोन दोनों रिलायंस कंपनी के तरफ से होगा आप किसी दुसरे कंपनी की सिम इसमें नहीं लगा सकते. मैं आपके जानकारी के लिए बताना चाहूँगा आजकल ज्यादातर GSM का उपयोग होता है.

Final Words:

तो दोस्तों आज इस पोस्ट में हम सभी ने यह जाना की SIM Full Form SIM का Full Form क्या होता है. इस पोस्ट में आप सभी को SIM Full Form के साथ सिम के बारे  में भी बताया की सिम क्या है, सिम कितने प्रकार के होते है, सिम क्यों जरुरी है आदि जैसे विषय पर हमने चर्चा की. मैं उम्मीद करता हूँ आप सभी को हमारा यह पोस्ट SIM Full Form पसंद आया होगा अगर आपको सच में कुछ नया जानने को मिला हो तो इस पोस्ट शेयर जरुर करे.