Virus Full Form: वायरस का फुल फॉर्म क्या है ?

0

दोस्तों इस पोस्ट में हम आज Virus Full Form Virus का Full Form जानेंगे. आप सभी ने वायरस का नाम बहुत बार सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है Virus का Full Form भी होता है बहुत से लोग इस बारे में नहीं जानते तो मैंने सोचा क्यों न इस विषय पर एक पोस्ट लिखा जाये की Virus का Full Form क्या है. वायरस का नाम सुनकर हम सभी डर जाते है क्यूंकि यह कभी किसी का भला नहीं करती है आज हम इस पोस्ट में Virus Full Form के साथ यह भी जानेंगे की वायरस क्या होता है और वायरस के कितने प्रकार है.

virus full form

Virus से हर कोई अपने कंप्यूटर और फ़ोन को बचाना चाहता है कोई नहीं चाहता की उनके डिवाइस पर कभी किसी वायरस का अटैक हो. वायरस अटैक जब शुरू होता है तब यह बहुत तेज़ी से फैलता है और बहुत से कंप्यूटर को अपने चपेट में ले लेता है. वायरस फैलने का मुख्या कारण इन्टरनेट है दुसरे कारण से भी वायरस फ़ैल सकता है उदहारण के लिए जब आप अपने किसी मित्र से ब्लूटूथ के जरिये डाटा और फाइल्स का आदान प्रदान करते हो तब भी वायरस अटैक मुमकिन है. वायरस अटैक ज्यादातर बड़े कम्पनीज का डाटा चुराने के लिए इस्तेमाल किया जाता है इसलिए सभी बड़े कंपनी जैसे की गूगल, फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सप्प, सैमसंग, एप्पल आदि हमेशा अपने सिक्यूरिटी टीम को सचेत रखती है ऐसे अटैक से बचने के लिए. आपने बहुत बार नोटिस किया होगा की कंपनी समय समय पर अपने सॉफ्टवेर अपडेट करते रहते है इसके दो कारण होते है एक तो अपने सॉफ्टवेर में नए features जोड़ने के लिए दूसरा वायरस अटैक से बचने के लिए. अब चलिए जानते है Virus का Full Form क्या है, Virus के प्रकार और इनसे कैसे बचा जाये.

Virus Full Form: वायरस का फुल फॉर्म क्या है ?

दोस्तों वायरस का फुल फॉर्म Vital Information Resources Under Seize होता है. कंप्यूटर वायरस को आप एक तरह का प्रोग्राम बोल सकते हो जो आपके कंप्यूटर में आपके बिना अनुमति के काम करता है और कंप्यूटर को नुक्सान पहुंचाता है. वायरस की एक खूबी होती है की यह अपने आप ही बढ़ते चले जाते है और धीरे धीरे आपका पूरा कंप्यूटर इसके चपेट में आ जाता है. यह आपके कंप्यूटर के जरुरी फाइल्स, हार्ड ड्राइव, ऑपरेटिंग सिस्टम, सॉफ्टवेर को नुक्सान पहुँचा सकता है. कुछ वायरस आपके बिना कुछ किये भी आपके कंप्यूटर में सॉफ्टवेर इनस्टॉल कर देते है. कुछ वायरस आपके डाटा को चुराकर हैकर तक पहुँचाने का भी काम करता है.

कंप्यूटर वायरस के प्रकार:

  1. Boot sector viruses
  2. Program viruses
  3. Multipartite viruses
  4. Stealth viruses
  5. Macro viruses
  6. Polymorphic viruses
  7. Active X viruses
  8. Browser hijacker
  9. Resident viruses
  10. File infector viruses

कुछ ऐसे मैलवेयर जो वायरस के रूप में भी जाने जाते है:

  • Computer Worms
  • Trojan horse
  • Spam virus
  • Spyware
  • Zombies

वायरस का निर्माण इंसान द्वारा ही किया जाता है यह ज्यादातर प्राइवेट जानकारी हासिल करने के लिए, डाटा ख़राब करने के लिए, मजाकिया संदेश कंप्यूटर पर दिखाने के लिए लोग वायरस को प्रयोग में लाते है. कंप्यूटर वायरस के वजह से हर साल करोड़ो रूपए का नुक्सान होता है उदहारण के लिए आप ransomware virus देखलो जो आपके कंप्यूटर को लॉक कर देता है और हैकर फिरोती हासिल करने के बाद ही इस वायरस को हटाता है. ज्यादातर वायरस विंडोज सिस्टम के लिए बनाये जाते है. वायरस से बचने के लिए लोग एंटी वायरस अपने कंप्यूटर में इनस्टॉल रखते है जो वायरस को आने से रोकता है.

कंप्यूटर वायरस कैसे काम करता है:

वायरस एक तरह का कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो कोडिंग से तैयार किया जाता है और यह अपने ही Copies बनाने में पूरी तरह सक्षम होते है और नेटवर्क के माध्यम से यह Copies दुसरे कंप्यूटर पर अटैक करते है इसी तरह यह फैलते जाते है. हम इसे वायरस इसलिए बोलते है क्यूंकि इनका काम भी Biological Virus से मिलता जुलता है जैसे की HIV AIDS. Biological Virus जो होते है वो भी Computer Virus के तरह ही फैलते है. Biological Virus पहले व्यक्ति पर अटैक करते है फिर अपने Copies तैयार करते है और बॉडी के Healthy Cells को भी नुक्सान पहुंचाते है और कोई इनके संपर्क में आता है तो उनको भी चपेट में ले लेते है. Biological Virus और Computer Virus में बस इतना फर्क है की Computer Virus इंसान द्वारा ही बनाये जाते है जबकि Biological Virus प्रकृति से उत्पन्न हुए है.

जिस तरह Biological Virus आपके शारीर को नुक्सान पहुंचाता है ठीक उसी तरह Computer Virus आपके कंप्यूटर को नुक्सान पहुंचाता है. कंप्यूटर वायरस आपके कंप्यूटर में पहुंचकर डाटा चोरी करना, ईमेल स्पैम करना, कीस्ट्रोक रिकॉर्ड करना आदि जैसे काम वायरस के होते है. कुछ वायरस तो इतने खतरनाक होते है की आपके पुरे कंप्यूटर को अपने कण्ट्रोल में कर लेते है.

कंप्यूटर वायरस से कैसे बचे:

  1. कभी Crack या Modded Software का इस्तेमाल नही करे हमेशा ऑफिसियल वेबसाइट से ही सॉफ्टवेर डाउनलोड करे.
  2. अपने ऑपरेटिंग सिस्टम और सॉफ्टवेर को हमेशा अपडेट रखे.
  3. जिस ईमेल की आपको जानकारी न हो उसके अटैचमेंट पर कभी क्लिक न करे.
  4. जो वेबसाइट आपको किसी Porn/Gambling साईट पर Redirect करे उन वेबसाइट को न खोले.
  5. अपने ब्राउज़र में Pop Up ब्लॉकर चालू रखे.
  6. अपने जरुरी डाटा का हमेशा बैकअप बना कर रखे.
  7. हमेशा स्ट्रोंग पासवर्ड ही इस्तेमाल करे.
  8. अपने कंप्यूटर में किसी अच्छे एंटीवायरस का उपयोग करे.

Final Words:

तो दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में Virus Full Form Virus का Full Form क्या है वो जाना. मैंने आपको इस पोस्ट में Virus Full Form के साथ वायरस क्या है, वायरस से कैसे बचे, वायरस के प्रकार की भी जानकारी दी. मैं उम्मीद करता हूँ आप सभी को आज हमारे इस पोस्ट से जरुर कुछ नया सिखने को मिला होगा. अगर आपको हमारा यह पोस्ट Virus Full Form पसंद आया हो तो शेयर जरुर करे.